आप अपने रोगी को भस्म का प्रयोग कैसे करने को करते है? रोगी मात्रा कैसे मापते है?

3 Likes

LikeAnswersShare

अल्पमात्रोपयोगित्वादरुचेरप्रसंगतः।  क्षिप्रमारोग्यदायित्वादौषधेभ्योऽ:धिको रसः।। रस अपनी तीन मौलिक विशेषताओं के कारण चिकित्सा सर्वोत्तम हैं। (1) अल्पमात्रा प्रयोग,  (2) स्वाद में रुचिपूर्णता और  (3) शीघ्राति शीघ्र रोगनाशक। स्पष्ट है कि किसी औषध का काढ़ा एक सो दो छटांक तक की मात्रा में दिया जाय जब कहीं लाभ होता है, परन्तु रस औषधि एक दोरत्ती की खुराक से ही पूरा लाभ हो जाता है।

Madam... Par aap dete kaise hai ye puch raha hu.... Churna me ya capsule bana kar ya tablet prefer karte hai ya pudiya?
0

जब भी भस्म देनी होती है तो या तो किसी चूर्ण में या सत्व में मिलाकर पुड़िया बना कर देते हैं। या फिर मरीज को अभी औषधियों की बल्क मात्रा बताकर कह देते है जैसे 10 ग्राम भस्म और 30 ग्राम चूर्ण 30 समान मात्रा की पुड़िया बना ले ।

Valuable opinion
1

View 1 other reply

Sir mai ta pudiya bna k deta hu weakly,agr jyada days ki mdcn ho to as a sample kuch pudiya bna deta hu taki uske acc mdcn le ske,ye jarur keh deta hu k bacho se door rakhe or dose km chahe ho jaye jyada na ho

Ok.... But pudiya is not a hygienic practice?
0

View 2 other replies

As Prescribed In Shastra ( Authentic Books ) as Per Puta ( Burnt ) . That May Vary from 30 mg to 125 mg.

How you measure the dose?
0

View 1 other reply

यह कैसा अदभुत प्रश्न पूछ रहे हैं। एक आयुर्वेदाचार्य को यह सब बातें तो अध्ययन काल में ही बता दी जाती है।

Filled bhasm in coated capsules . Capsule size as per quantity of bhasma

Is it feasible?
0

Rugna bala aur vyadhi ke anusar matra dete hai. Yogya anupan ke sath.

मात्रा कैसे मापेगा रोगी?
1

Actually tablet form i prefer to give according to age...

Thanks
0

Ras aushadhi hai to koi churn me mix karke deta hu

Or Normal Bhasma? Ya Satva?
0

View 1 other reply

Sir now it's available in Tablet forms..

Load more answers