Concluded Case

आंत्रिक ज्वर के आयाम।

35 साल का यह नोजवान साल में तीन बार टाईफायड से ग्रस्त हो चुका था।चोरी बार टाईफाइड होने पर 3/21 से आयुर्वेद की शरण में आया था। विशेषज्ञों से एलोपैथी ईलाज लेने पर भी स्वस्थ नहीं हुआ। रोगी के दांतों पर काले निशान।अल्प रक्त दबाव । चेहरे पर हताशा,हल्की झुरियां । ज्वर 99./_103. सुबह शाम। भूख न के बराबर ।वजन केवल 45 कि . कोरपोरेट नोकरी छुटने का डर । कोरोना होने का डर ।नींद का का अभाव । रोगी पूर्व में ड्रिंक व सिगरेट का आदी। हल्की खांसी,खांसने पर सिर दर्द। मल त्याग अनियमित। निदान =मेरे विचार से रोगी टी बी होने के कगार पर था। प्रथम सप्ताह जयमंगल रस,गोदन्ती भस्म,तालिसादि चूर्ण,बसंत मालती रस,सत्व गिलोय का सेवन शहद से। अमृतारिष्ट,द्राक्षासव संशमनी वटी के साथ। दुसरा सप्ताह ज्वर कम होने पर जयमंगल रस हटा दिया गया। तिसरे सप्ताह उपरोक्त योग में रूद्रवंती वह सितोप्लादि का योग करने पर टाईफाइड पूर्णतया ठीक हो गया। चोथे सप्ताह अंश्वगन्धा+ शिलाजीत सूर्य तापी दूध के साथ। खाने के बाद माहुल्लम शर्बत(हमदर्द) व मकरध्वज वटी के साथ प्रयोग करने से बीपी,कमजोरी व एच बी नोर्मल हुई।रोगी खुश। विद्वजन चिकित्सकों के साथ शेयर कर रहा हूं।

9 Likes

LikeAnswersShare
Concluded answer

Dr.Bhoot is encouragingly the AYUSH with Curofy team also.

All Answers

Dr.Bhoot is encouragingly the AYUSH with Curofy team also.

Thanks sir
1

Congratulations sir.

Thank you doctor
0

Congratulations sir g

Thank you doctor
0

Congratulations and great job @Dr. S.k. Mudgal sir

Thank you doctor
0

अति सुन्दर प्रस्तुति है धन्यवाद देता हूं।

Thank you doctor
0

Congratulations sir .excellent job sir

Thank you doctor
0

बधाई सर जय हो आपकी एवं आयुर्वेद की धन्यवाद curofy टीम

Thank you doctor
0

Congratulations sir and thank u for sharing this kind of case with us

Thank you doctor
0

Chininum- Ars can be helpfull.

Thank you doctor
0

Congratulation sir

Thank you doctor
0
Load more answers

Cases that would interest you