Hemagarbha Pottali Ras – Benefits, Dosage, Ingredients, Side Effects Hemagarbha Pottali Ras is

3 Likes

LikeAnswersShare
हेम गर्भ पोट्टली रस घटक द्रव्य- पारद, गन्धक, स्वर्ण भस्म, ताम्र भस्म, कुमारी स्वरस रोगधिकार- रसायन एवं वाजीकरण प्राणवह स्रोतो दुष्टि एवं अन्न वह स्रोतो दुष्टि मे लाभदायक Acute and chronic respiratory diseases Tuberculosis Malabsorption syndrome Ibd balance vata, pitta and kapha dosha. Avoid in pregnancy and lactation. Dose - 1/4 to 01 ratti (125 mg max dose) with butter and milk pyrexia of unknown origin
Thank you doctor
0
हेम गर्भ पोटली रस घटक द्रव्य: शुद्ध पारा एवं स्वर्ण भस्म चिकित्सीय उपयोग: यह रसायन ,दीपक ,पाचक ,त्रिदोषनाशक और अग्नि वर्धक है। इस रसायन के सेवन से राजयक्ष्मा , संग्रहणी ,श्वास आदि कठिन रोगों में लाभ होता है। सेवन मात्रा: एक चौथाई से एक रत्ती सुबह शाम मक्खन मलाई आदि के साथ या रोगानुसार अनुपान के साथ दे।
हेमगर्भ पोटली रस,,,का उपयोग,,,, यह रसायन दीपक है,पाचक, त्रिदोष नाशक, तथा अग्नि वर्धक है,राजयक्षमा, संग्रहणी,स्वांस कास आदि कठिन रोग ठीक होते हैं।जीवनीय शक्ति प्रदान करता है। खास कर यक्षमा की अचूक दवा है।
Thank you doctor
0
Details Missing hai sir @Tapan Kumar Sau
Thank you doctor
0
@Dr. D. P. Singh जवाब दिजीये
Thank you doctor
1
Nice informative pozt
Thank you doctor
0