Why ayurveda required modern examination?

why Ayurveda required modern examination?? In ayurveda, acharya explain different type of अंजलि प्रमाण for धातु , उपधातु & मल, whenver अंगुली प्रमाण for length of अंग प्रत्यंग. अंजलि प्रमाण सच मे क्या है और कैसे किया जाता है ऐ कोई explain नई कर पाता उस वजह से दुष्य ke quantitave estimation नई हो पाता | अंजलि प्रमाण के बिना रोग निश्चित हो सकता है?? अगर हो सकता है to अंजलि प्रमाण की कोई आवश्यक नई है.. पर अंजलि प्रमाण के बिना नई हो सकता तब अंजलि प्रमाण के स्थान पे modern examination को use करना पड़ता है | example :- मधुमेह मै मूत्र मै सर्करा होती है, उसके परीक्षण के लिए मूत्र स्थान पर पिपलिकाभक्षण देखना पड़ता है | जो इस समय मे chemical examination से होता है प्रमेह के main dusya मे मेद excessive और अस्थायीभाव से रस और rakta मे अधिक होता है इसलिए रक्तगत मेद - fat & cholesterole ke प्रमाण ke लिए modern examination आवश्यक है l वाग्भट :- माधुर्याध्व तनदत : कह कर सर्करा की वृद्धि बताई है इसके लिए blood sugar test आवश्यक है l..

3 Likes

LikeAnswersShare
डॉ मनिष चौधरी आप का प्रयास सराहनीय है। मैंने 50 वर्ष पूर्व गुरुकुल विश्व विद्यालय में शिक्षा ग्रहण की है। आयुर्वेद में Ph D किया है पिछले 40 वर्ष से किडनी डिसिज पर सफल अनुसंधान किया है और परिणाम भी अति उत्तम है। आप को गहन अध्ययन की आवश्यकता है। विषय लम्बा है समय का अभाव रहता है इस लिए मैं आपको अपनी राय देने में सक्षम नही,,,
Thank you doctor
0
Excellent Explanation @Manisha Chaudhary Madam....
Thank you doctor
0
Nice explanation
Thank you doctor
1

Cases that would interest you