आम - 1 ...

हम सभी जानते हैं कि आयुर्वेद में बहुत सी व्याधियां आम के कारण होती है। इसलिए अपनी कुछ post से मैं आम क्या है?आम उत्पन्न होने के कारण,लक्षण और चिकित्सा का वर्णन करूंगी। अपनी इस post में आम और उसकी उत्पत्ति का वर्णन करूंगी। आम से कुछ लोग अपक्व अन्न,अपक्व अन्नरस तथा धात्वग्नि की दुर्बलता से उत्पन्न अपक्व रसादि धातुओं का ग्रहण करते हैं। अ.हृ.सू.13/25 में आम का वर्णन इस प्रकार मिलता है- उष्मणोऽल्पबलत्वेन धातुमाद्यमापचितम् दुष्टमामाशयगतं रसमांम प्रचक्षते।। जठराग्नि के अल्प बल वाला होने से शरीर की प्रथम रस धातु का पाचन नहीं हो पाता और यह आमाशयगत हो जाती है;इस प्रकार दूषित अपक्व रस धातु को ही आम कहते हैं। आमेन तेन संपृक्ता दोषा दूष्याश्च दूषिता: सामा इत्युपदिशयन्ते ये च रोगास्तदुद्भवा:।। आम मिश्रित वातादि दोष तथा रसादि धातुओं को साम कहते हैं।

3 Likes

LikeAnswersShare
Dear Dr. Km Bhawana, Good paribhasha about Aam and Saam.
Thank you doctor
0