Friends today I am discussion about a savere disease. Shingles/Herpes Zoster Shingles or herpes zoster is an infection which is characterized by a painful blistering skin rash. The rash usually affects one side of the body, i.e. the torso and/or one side of the face. It appears in a band formation and therefore the name ‘shingles’, which is Latin for ‘belt’. Shingles is caused by the same virus that causes chickenpox, called the varicella-zoster virus. The initial warning symptoms appear one to five days before the rash appears. You will feel the warning signs on the location where the rash will appear. These initial symptoms include itching, pain, burning, pricking and stabbing sensation, followed by high fever, chills and muscle pain. The tell-tale rash appears soon after. When a person (usually children) gets infected by the varicella-zoster virus, he/she develops chickenpox. After the chickenpox heals, the virus remains in a dormant state in the nerve roots or the dorsal root ganglia, which contains the cell bodies of sensory neurons. Years later, this virus may wake up to cause an outbreak of shingles or herpes zoster. Although the reason for its waking up is not certain, experts believe a variety of conditions can lead to its activation such as normal ageing weakening of the immune system stress and anxiety Healthy people and young children too are not exempt from the risk. In fact, anyone who has had chickenpox is at a high risk of developing herpes zoster or shingles. Appearance of the Blistering Rash The distinctive feature of this illness is the rash that appears on one side of the body. The rash is accompanied by a pricking and sometimes stabbing pain. It erupts into clusters of small red patches that develop into blisters. Within 7 - 10 days the blisters break open and a fluid comes out. During this period, if anyone who never had chickenpox before, accidentally touches the oozing blisters of the patient, he/she will develop chickenpox. Once the fluid comes out, the rash slowly begins to dry and crust. The rash disappears completely after two to four weeks. When the blisters scab and dry, the virus cannot spread anymore. Because herpes zoster affects the nerve cells in the body, it is very common for the rash to appear in the formation of a band on one side of the body along the path of a nerve. In some people, the rash may spread to the eyes, and occur inside the eyelids. This can be extremely painful, with the person experiencing stabbing pains in the eye, constant eye watering, sensitivity to light, and blurry vision. The symptoms in the eyes usually vanish within three to five weeks. A person with shingles cannot transmit shingles to another person. Though, he can transmit chickenpox to a person, who has never had chickenpox before. Post-Herpetic Neuralgia (PHN) Around 20% of the people who suffer from shingles may develop a condition known as post-herpetic neuralgia. This occurs when the proper functioning of a nerve is disrupted due to the damage caused to it by shingles. It is commonly believed that shingles causes scar tissue to develop around the nerve, which when inadvertently pressed, causes pain signals to go to the brain. The person suffering from PHN will experience a sudden throbbing, burning, shooting, or even a stabbing pain along the damaged nerve for months, or even years, after the rash has healed. In some cases, the pain may be continuous for a few months after the rash has healed, however, if the condition runs into years, the person will experience paroxysms of pain along the nerve. Who is prone to shingles/herpes zoster? a weak immune system are experiencing any stress or trauma are suffering from any illnesses such as diabetes, HIV, cancer are taking any medications that affect the immune system such as steroids are taking treatments for certain ailments such as cancer are recuperating from any illness, be it even a cold, or flu have erratic sleeping patterns are suffering from malnutrition a dull constant pain which can be mild or severe, or an intermittently shooting pain in the affected area soreness, burning sensation, itching, or numbness in the affected area exhaustion fatigue sensitivity to light fever headache the appearance of a painful, itchy and red rash on one side of the body and sometimes in and around the eyes a sensation of pins and needles piercing through in the areas of the rash throbbing pain in the eye with burning sensation and irritation soreness and redness in and around the eye extreme sensitivity to light constant eye watering blurred vision What are the complications of shingles/herpes zoster? Shingles is a self-limiting condition which disappears within three weeks. However, in people with very low immunity, it may take a serious turn. Delaying, or not undertaking medical treatment can cause serious complications which include: Postherpetic Neuralgia - which is nerve pain caused by the damage to nerves by the varicella-zoster virus. The stabbing pain can remain for months and even for years in patients. Eye Complications - which can occur if the rash spreads to the eyes. Swelling of the cornea may occur which can leave permanent scars. Shingles in the eye can also cause the retina to swell, or increase pressure in the eye which can lead to glaucoma and eventually loss of vision. Skin Infections - may occur if the area affected by the rash is not kept clean, which can lead to scarring. Neurological Complications - can ensue if the shingles affects the nerves in the brain. The neurological complications include Guillain-Barre Syndrome, Ramsay Hunt Syndrome, Bell’s palsy, encephalitis, meningitis, and even stroke anytime in the year following the illness. Disseminated Herpes Zoster- is when the virus spreads to other organs. People with compromised immune systems ( those suffering from cancer, HIV/AIDS), are at a risk of Disseminated Herpes Zoster. This can be life-threatening especially if it affects the lungs. What is the treatment for shingles/herpes zoster? Though there is no known cure or for that matter treatment for shingles, your general physician may prescribe antiviral medicines, which will reduce the pain and duration of shingles. He may also prescribe some topical antibiotics to apply on the rashes which will reduce the stinging and prevent infection. Homoeopathic medicines for Herpes Primary Remedies Arsenicum album. If a person feels chilly, anxious, restless, and exhausted during fever-and the burning pain of the eruptions is relieved by heat-this remedy may be indicated. ... Apis mellifica. ... Iris versicolor. ... Mezereum. ... Ranunculus bulbosus. ... Rhus toxicodendron. ... Clematix.

17 Likes

LikeAnswersShare

5-"DIABETESE FREE SOCIETY CAMPAIGN" Hindi "LIFESTYLE DISEASES 100% REVERSIBLE" ''आपको कोई लाईलाज,असाध्य बीमारी या अन्य पुरानी तकलीफ व परेशानी रहती है तो अवश्य संपर्क करें|'' "पोस्ट को ध्यान से पढें,फिर आपको मुझसे कुछ भी विचार-विमर्श या पूछताछ करने की ज़रुरत ही नहीं पड़ेगी|नीचे दिए पते पर पहुँच कर अपना मुकम्मल ईलाज करा लें|सदा सुखी व स्वस्थ्य जीवन का आनंद लेते रहेंगे|" नीचे लिखी कुछ लाईलाज बीमारियाँ जिसको हमलोग "LIFESTYLE DISEASE" के नाम से जानते हैं। और,इस तरह की सारी बीमारियों का मुकम्मल ईलाज 100% मुमकिन है,वो भी सिर्फ एक ही "MEDICINE" से| क्युंकी सारी बीमारियाँ "GLUCOSE" और "INSULIN" की गड़बड़ी की वजह से ही वजूद में आती हैं,मगर शरीर के विभिन्न अंगों के हिसाब से उसका नाम दे दिया जाता है|लेकिन सारे रोग "DIABETES" की बदली हुई शक्ल व रुप ही हैं|£GLUCOSE" और "INSULIN" के बीच जब तक तालमेल सही है,हम सेहतमंद और स्वस्थ्य हैं| यही सबसे बड़ी सच्चाई है जिसे सैंकडों वर्षों से हमसे छुपाई गई है बड़ी-बड़ी "PHARMACEUTICALS COMPANIES" की ओर से,ताकि वो अपना धंधा चला सकें|हमें डराया गया है हमेशा,जिसे "DISEASE MONGERING" यानि "भय का व्यापार" कहते हैं और इसका फायदा हमसब को उल्लू बनाकर उठाया जाता रहा है ! “DIABETES, HIGH BP, CHOLESTEROL, THYROID, ANY TYPES OF VIRAL DISEASES:- DENGUE, H1N1, SWINE FLUE, CHIKANGUNIA HIV-AIDS" वगैरह बीमारियों की सारी अब दुनिया के सामने आ चुकी है,जिसको हमलोग "LIFESTYLE DISEASE" के नाम से जानते हैं|और मैं अपनी इस बात को किसी भी मंच पर सबके सामने साबित कर सकता हूँ कि तमाम बीमारियाँ बिल्कुल,पूरी तरह,हमेशा केलिए REVERSE हो जाती हैं,जिसके लिए जीवनभर "ALLOPATHIC MEDICINES" खिलाया जाता है, यानी जीवनभर बीमार रखा जाता है|ज़रुरत है सिर्फ और सिर्फ अवाम, जनता, समाज,सोसाईटी और लोगों के जागने और जगाने की|आगे आईए!इस अवामी-समाजी बेदारी अभियान का हिस्सा बनिए, जिसका नाम "DIABETES FREE SOCIETY CAMPAIGN" रखा है| तमाम बीमारियाँ एक निश्चित समय में बिल्कुल REVERSE हो जाती हैं| DEAR FRIEND ! जो दवा मैं देता हूँ,जो बातें मैं बताता हूँ,वो "UNANI MEDICINE" सबसे अलग होता है|लोगों को बिल्कुल अजूबा लगता है, क्योंकी "ALLOPATHIC, UNANI, AYURVEDIC & HOMEOPATHIC वालों ने इतना प्रोपगैण्डा फैलाया हुआ है कि लोग इसको सुनने समझने को ही तैयार नहीं|3-4 घंटे लगते हैं इस साजिश यानि "CONSPIRACY" को समझाने, बताने में| सारा कच्चा चिट्ठा खोलकर जब-तक नहीं बताता तब-तक लोगों को यकीन नहीं होता| "DIABETES" और अन्य सभी क़िस्म की बीमारियों यानि "LIFESTYLE DISEASES" की "ALLOPATHIC MEDICINES" पहले दिन से ही छूट जाती है,फिर हमेशा के लिए| और भविष्य में कभी उसकी ज़रुरत भी नहीं| आजतक लोगों को "PHARMACEUTICALS COMPANIES" "ALLOPATHIC" "UNANI" "AYURVEDIC" & "HOMEOPATHIC" COMPANIES & DOCTORS, HAKEEM, VAIDYA बेवकूफ बनाती रही हैं,जो कम्पनियों के एजेन्ट की तरह काम करते हैं|मगर अब बस ! "DIABETES" या किसी भी "LIFESTYLE DISEASE" के होने के कारण को नज़र अंदाज़ किया जाता रहा है, ताकि ये और इस तरह की तमाम बीमारियों में जिन्दगी भर "ALLOPATHIC MEDICINES" खिलाते रहें "PERMANENT CUSTOMER" बनाकर लूटते रहें| मैं जो केवल एक "MEDICINE" हर बीमारी केलिए देता हूँ,उसको लेना शुरु करने के दिन से ही अपना असर दिखाता है|"ALLOPATHIC, UNANI, AYURVEDIC & HOMEOPATHIC, MEDICINES" छोड़ना पड़ता है हमेशा केलिए|तीन माह के बाद ये मेरी "UNANI MEDICINE" भी बन्द हो जाती है|ईन्शा अल्लाह | Aapko ya aapke kisi apnon ko koi problem ho to likhe huwe ADDRESS par zarur aakar mil sakte hain.* नोट:- इस पोस्ट को पढ़ने के बाद अपना विचार अवश्य व्यक्त करें, मुझे अच्छा लगेगा|साथ ही आगे अपने सर्किल में ज़रुर शेयर करें | * दवा केवल एक ही है, जो पावडर की शक्ल में है|4 - 4 ग्राम सुबह-शाम काढ़ा बनाकर पीना है| * भारत में कहीं भी स्पीड पोस्ट या कूरियर के द्वारा दवा भेजने का ईन्तजाम है|इसके लिए अलग से कोई चार्ज नहीं लिया जाता है| धन्यवाद ! * نوٹ:- * इसी तरह के पोस्ट जो मोडर्न साइंस की पोल खोलने वाली होंगी,मेरे फेसबुक टाईमलाईन पर जाएं या मेरे WhatsApp No 9334518872 पर जाएं।जहां उर्दू,हिन्दी और अंग्रेजी में ढेर सारे पोस्ट पढ़कर सच्चाई से रूबरू होंगे। और, देखेंगे कि कैसे ये फार्मासियुटीकल कंपनियां बेवकूफ बनाकर जनता को कंगाल बना रही हैं। * اسی طرح کے پوسٹ جو ماڈرن سائنس کی پول کھولنے والی ھونگی،میرے فیس بک ٹائم لائن پر جائیں یا میرے Whatsapp no 9334518872 پر جائیں اور اردو،انگریزی و ھندی میں ڈھیر سارے پوسٹ پڑھکر سچائی سے روبرو ہونگے۔اور دیکھیں گے کہ کیسے یہ فارما سیو ٹیکل کمپنیاں بیوقوف بناکر عوام کو کنگال بنا رھی ھیں۔ حکیم محمد ابو رضوان بی یو ایم ایس،آنرس(بی یو) हकीम मो अबू रिज़वान बी यू एम एस,ऑनर्स(बी यू) HAKEEM MD ABU RIZWAN BUMS,hons.(BU) CHAMBER'S:- 1:- +UNANI MEDICINES RESEARCH CENTRE+ HILL VIEW AREA,ROAD NO-6 2nd FLOOR KALIM MALLIK(KALLU)ka MAKAN JUGSALAI JAMSHEDPUR JHARKHAND. TIME:-06:00-10:00am 03:00-05:00pm 09:00-10:00pm 2:- ROOM NO 7,JAMA MASJID CAMPUS SAKCHI TIME:-10:30-02:00pm 04:00-08:00pm मोबाईल। 8651274288 व्हाट्स ऐप 9334518872 Email umrcjamshedpur1966@gmail.com

Thank you doctor
0

View 2 other replies

36:- "DISEASE FREE WORLD" डायलीसिस DIALYSIS में अस्पताल का खर्च मात्र 250/- से 350/- ₹ तक आता है।लेकिन आपसे एक दिन की DIALYSIS के लिए 2500/- से 4500/- तक वसूला जाता है,वो भी बड़े प्यार से परमानेंट कस्टमर बनाकर।दिन तारीख भी निर्धारित कर दी जाती है,सप्ताह में दो तीन दिन। आपका जो DIALYSIS हो रहा होता है,उस DIALYSIS तक आपको पहुंचाया गया है DIABETES की दवा खिला खिला कर।DIALYSIS शुरु होने पर बचा खुचा किडनी भी बिल्कुल बेकार हो जाता है।इसे आप एक उदाहरण से समझिए- आजतक आप काम धंधा करके मेहनत से कमा रहे हों और कल कोई आपसे कहदे कि आपको काम धंधा नहीं करना,न ही कहीं जाने की ज़रुरत है।हर माह आपको पूरी पूरी रक़म घर बैठे मिल जाया करेगी।कुछ महीने या साल के बाद आप एक अपाहिज ईन्सान बनकर रह जाएंगे।DIALYSIS के बाद आपकी किडनी का यही हाल कराया जाता है।अब जबकि किडनी का काम मशीन करने लगा तो किडनी को आराम मिल गया।तभी तो इतनी पाबंदी से DIALYSIS कराते रहने केलिये कहा जाता है। आज से सौ साल का ही इतिहास उठाकर देखिए कि कोई एक DIABETES का मरीज़ अंग्रेज़ी दवा का सेवन करते हुये दस,बीस या पचीस बरस के बाद भी सेहतमंद हो गया क्या,या उसने दवा लेना बिल्कुल बंद कर दिया क्या।ऐसा आजतक हुआ ही नहीं। तो फिर ये DIALYSIS क्यों,और जब DIABETES का ईलाज चल रहा हो,वो भी लगातार। DIABETES की ऐलोपैथिक ईलाज का नतीजा कहिए या अंजाम - "किडनी फेल"। दरहक़ीक़त ईशवर ने हम इन्सानों को नेचुरल चीज़ों से बनाया है।हमारे रोग को नेचुरल चीज़ें ही ठीक कर सकती हैं।केमीकल केलिए मानव शरीर COMPATIBLE नहीं है।अंग्रेज़ी दवाएं CHEMICAL होती हैं जो हमारे शरीर में "आतंकवादी" की तरह तोड़ फोड़ करते हुए आक्रामक और हिंसक तरीक़े से घुसता है।जिसके कारण कई प्रकार के दुषप्रभाव और दुषपरिणाम हमें झेलने पड़ते हैं।इसे ही "SIDE EFFECTS" कहते हैं। सबसे अहम सवाल ये है कि अंग्रेज़ी दवा की आयु है ही कितनी?तो,उसके पहले भी जब ईन्सान बीमार पड़ता ही था,और ईलाज भी होता था,और केवल जड़ी बूटियों से ही होता था,जो नेचुरल चीज़ें हैं। तो फिर अब और समय मत गंवायें,और जितना जल्द मुमकिन हो अंग्रेज़ी दवाओं को बाय बाय कहदें। वैसे आपकी जानकारी केलिए बता दूं कि DIABETES का ईलाज जब शुरू होता है और दवा लेना आरम्भ करते हैं तो कुछ महीने या कुछ साल बाद तोहफे के तौर पर CHOLESTEROL और HIGH BLOOD PRESSURE की दवा मिल ही जाती है। DIABETES की अंग्रेज़ी दवा के सेवन का परिणाम यही सामने आता है कि 50℅ रोगी का किडनी फेल हो जाता है।20% से 25% रोगियों की आंखों की रौशनी चली जाती है,यानि अंधा हो जाता है।और 15℅ से 20% रोगियों का पैर काटना पड़ जाता है। आप सोचिए,ये कैसा ईलाज है।कैसी अंधेर नगरी है।हमारे समाज में तो डाक्टरों को भगवान का दर्जा प्राप्त है।लेकिन ये कौन सा रूप है उनका कि "मर्ज़ बढ़ता गया जूं जूं दवा की"। मेरा मानना है कि जब DIABETES का ईलाज करते करते मरीज़ की किडनी फेल हो जाती है,आंखों की रौशनी चली जाती है या पैर काटने की नौबत आ जाती है तो फिर ऐसे ईलाज का क्या मतलब।किसी भी बीमारी के ईलाज का मतलब तो यही होना चाहिए कि दवा खाएं और बीमारी बिल्कुल ठीक,न कि जीवन भर दवा खाते रहें। असल में बात ऐसी है कि कुछ लोगों को आपके बीमार रहने से फायदा है।ये सारा मामला केवल कारोबार और उससे होने वाले मुनाफे से जूड़ा है।अब जबकि आपकी बीमारी कुछ लोगों केलिए कारोबार बन जाए तो वो क्यों ऐसा चाहेंगे कि आप ईलाज कराओ और स्वस्थ हो जाओ। अव्वल तो ये कि सबसे बड़ी सच्चाई आपसे छुपाई गयी है-"DIABETES और HIGH BLOOD PRESSURE अपने आप में कोई बीमारी है ही नहीं।ये किसी बीमारी का केवल "लक्षण" भर है।दूसरी बात ये कि किसी भी डाक्टर,हकीम वैध को किसी भी बीमारी का "कारण" ही नहीं पता तो ईलाज कैसे करेंगे।यहां तो अंधेरे में ही तीर चलाई जाती है,"लगा तो तीर,नहीं तो तुक्का"। नोट:- इस पोस्ट को पढ़ने के बाद अपना विचार अवश्य व्यक्त करें, मुझे अच्छा लगेगा| साथ ही आगे अपने सर्किल में ज़रुर शेयर करें | * मेरे पास दवा केवल एक ही है, जो पावडर की शक्ल में है| 4 - 4 ग्राम सुबह-शाम काढ़ा बनाकर पीना है| * ₹ 3000/- रूपये एक महीना (किसी भी बीमारी के लिए) है। * ₹ 6000/- रुपए एक महीना (CANCER & TUMOUR के लिए) है। * इंडिया या इंडिया के बाहर कहीं भी स्पीड पोस्ट या कूरियर के द्वारा दवा भेजने का इंतज़ाम है| ........................... BANK ACCOUNT DETAILS DR M A RIZWAN CANARA BANK BRANCH DIAGONAL ROAD BISTUPUR JAMSHEDPUR JHARKHAND SB A/C NO 0324101031398 IFSC CODE CNRB0000324 .......................... -:ADDRESS:- HAKEEM MD ABU RIZWAN BUMS,hons.(BU) +UNANI MEDICINES RESEARCH CENTRE+ HILL VIEW AREA,ROAD NO-6 JUGSALAI JAMSHEDPUR JHARKHAND. मोबाईल। 8651274288 व्हाट्स ऐप 9334518872 Email umrcjamshedpur1966@gmail.com

Thank you doctor
0

View 1 other reply

Dr.Gupta sir no doubt ,nice sharing . One question needs some understanding regarding the attachment or co relation to touch,not to touch small pox spots Witch can covert in Herpes zoster?. Several of childs suffers by chiken pox in india to day also But case trun in to Herpes,may needs some understanding as per my openion.Dr. Rajesh Gupta ,Dr. Hemant Adhikari ,@Dr. Divya Sharma , @Dr. Satyanarayana Reddy Sunku @Dr. Ashish Deshpande all Respt.doc's

Yes ,,as it is viral,infection,,,it will easily spread to others specially to children's,, so pt should be isolated,. In Ay also it was mentioned, ,,tqs sir,,
2

View 5 other replies

Rhis tox 30 4 drop tds / S1+L1+VEN1+GED610DROP 2HLY / S3+C3+GE OINT APPPY

Thank you doctor
0

Very nice detail explanation sirji thankyou

Thank you doctor.
0

Useful post

Thank you doctor.
1

Very nice n informetive post sir ,In ayurveda we use bhagar rice ( in maharasta we know upwas ka chawal / bhagar rice ) with courd mixed n apply 2-3 days its finished.

Thank you doctor
0

Herpes zoster in nerve root acylivir 500 bd tab wysolne10mgbd acylovir cream prgaba m neurobion forte

Nice information thank you sir..greatfull to u

Thank you doctor
0

ACYCLOVIR 400 MG tablets HEPRUS CREAM

Thank you doctor.
0
Load more answers

Cases that would interest you