prevention of heart diseases by ayurveda

आजकल हृदय रोगों जेसी बीमारी सब के घरों में देखने को मिलती है | जब लोगो को पता चलता है की उनको heart के problems है तब वो ऐसे डर जाते है की मानो उनकी मृत्यु कल होने वाली हो | ऐसे लोग भी normal लोगो की तरह अपना जीवन जी सकते है बस उन्हें कुछ ayurveda में बताये हुए उपाय को अपनाना होगा | हमारे आयुर्वेद के आचार्य और वैद्य जनों ने ऐसे ही उपाय बताये है जिसे हम हृदय रोगों होने से बच सकते है और अगर बीमारी होंगी तो भी हम उससे लड़ सकते है | उपाय :- 1) नियमित व्यायाम और आसान कीजिए  2) अगर व्यक्ति की उम्र ज्यादा है तो उसे सुबह और शाम चलना चाहिए   3) आहार - लघु होना चाहिए  4 )लसन,  मरी,  जीरा,  अदरक, हींग जैसे मसालों को उपयोग ज्यादा कीजिये  5)Weak में ya 15 दिन में एक दिन उपवास कीजिये  6) गाय का घी,  तिल तेल और दूध गाय और अजा का use कीजिये  7) दूध में केसर,  कस्तूरी,  जायफल,  एला जैसे सुगंधि द्रव्य का उपयोग कीजिए.. ऐ सब द्रव्य वातहर, कफहर, बलप्रद और antiseptic है  8) patient को हृदय रोग का डर नहीं रखना चाहिए क्योंकि रोग से ज्यादा रोगी का डर ज्यादा हानिकारक होता है  9) सिनेमा जैसे से रात्रि जागरण नई करना चाहिए | प्रगाढ़ निद्रा ही एक महान रसायन है | 10) शांत मन रखना  11) मन को प्रसन करे ऐसी प्रवृति करनी चाहिए  12)  अपने हॉबी को अपनाये  13)हृदयरोगी को सारा दिन लेटे रहने की जरूर नहीं है  वो धीरे धीरे चलना,  घूमना और अपने मन को अनुकूल हो ऐसे काम कर सकता है | 14) बिनजरूरी दवाई लेना बंध कीजिये  15 )  आयुर्वेदिक औषधि का उपयोग कीजिये  16) भगवान में विश्वास रखिये  17) ध्यान कीजिये  18) अगर दर्दी को अनिद्रा है तो उसे पीपर के मूल और भैंस का दूध दीजिये  19) मौन और शांति  20 ) भगवान की भक्ति भी रोगों को नाश करने में सहाय करती है और रोगी को भी उसे लड़ने की शक्ति देती है | ऐ सब उपाय से हम अपना जीवन निरोगी रह कर बिता सकते है |    jay ayurveda

9 Likes

LikeAnswersShare

अति महत्वपूर्ण एवं उपयोगी जानकारी हेतु आभार व्यक्त करता हूं।

Thank you doctor
0

बहुत सुन्दर विचार

Thank you doctor
1