patients feel pain after masturbation or ejaculation in testis plz help in diagnos & T/t pt a

2 Likes

LikeAnswersShare

वेग कोई भी मल,मुत्र,छिंक, शुक्र,ऊबासी,संभोग आदि को रोकने पर भयंकर व न समझ में आने वाले रोग के रुप में हो सकता है।90% रोगीयों में आवेग को बल पूर्वक रोकने का परिणाम अण्डकोशों में दर्द पैदा होता है।खड़े होकर मेथून या हस्तमैथुन करने पर वात अवरूद्ध होने के कारण भी ऐसा होता है।केवल आनन्द के लिए वीर्य स्खलन भूल कर नही रोकना चाहिए ।१०% रोग यूटीआई आदि में तलाश करना चाहिए। मात्रा चन्दरप्रभावटी के सेवन से ही एक ही दिन में प्रभाव शाली है।महायोगराज गुगल भी साथ में प्रयोग कर सकते हैं। बृहत पूर्ण चन्द्र रस स्थाई लाभ कारी है। @Dr. Rahul Sherwal .

Thank you doctor
2

If frequency of masturbation/ ejaculation is hign then ask to reduce it... If not so then go with the investigations

Thank you doctor
0

यह कोई चिंता का विषय नहीं है। सम्भोग हमेशा शांत चित्त स्थिति में करना चाहिए। हस्तमैथुन नही करना चाहिए।

Thank you doctor
0

Dear Dr. Rahul Sherwal , Advice for the case. Tab. Shukra Matruka Vati 1 BD with sweetened milk.

Thank you doctor
1

Rx Tab. Ashwgandha ds *2 bd Kukatandtwak bhasma A coplaint of weakness

Tab.Aryslozym