Definition of दीपन पाचन

पचेन्नाम वाह्निकृच्च दीपनं तद्यथा मिशि:।। दीपन- जो आम रस का पाचन न करें किन्तु अग्नि को प्रदीप्त करें। यथा- सौंफ़ पचत्यामं न वह्निंच कुर्याद्यत्तद्धि पाचनम् नागकेसर वद्धिद्याच्चित्रो दीपन पाचन:।। पाचन- जो आम रस का पाचन करें किन्तु अग्नि को प्रदीप्त न करें। यथा- नागकेसर दीपन पाचन- जो आम रस का पाचन करें और अग्नि को भी प्रदीप्त करें।यथा- चित्रक

3 Likes

LikeAnswersShare
Dear Dr.Km Bhawana, Definition of deepan pachan withShloka is important.
Thank you doctor
0