स्वरयंत्र - प्रदाह Laryngitis

कैप्सिकम Q - 3 बूंद , ड्रोसेरा Q - 5 बूंद , लैकेसिस 30-1 बूंद , एलियम सिपा 3X - 2 बूंद , आर्जेण्टम मेट 3X - 2 बूंद , आर्जेण्टम नाइट्रिकम 3X - 2 बूंद , एक्वा -1 औस । इन सभी को मिला लें । यह एक मात्रा है । इस प्रकार प्रतिदिन चार बार लेने से लाभ होता है । • एकोनाइट 30-2 बूंद , एलियम सिपा Q - 1 बूंद , स्पांजिया टोस्टा 13-3 बूंद , हिपर सल्फ 3X - 2 बूंद , फॉस्फोरस 3x - 1 बूंद , एक्वा - आधा औस । इन सबको मिला लें । यह एक मात्रा है । इस प्रकार प्रतिदिन चार वार देने से स्वरयंत्र प्रदाह के साथ साथ गले का प्रदाह , काली खांसी , स्वरभंग , जुकाम , ज्वर , अकड़न आदि में भी पर्याप्त लाभ होता है ।

2 Likes

LikeAnswersShare

किसी फार्मेसी का पेटेंट में भी उपलब्ध है ।डा.

Thank you doctor
0

Thankyou Doctor for your valuable information

Thank you doctor
0