What is शीतनिर्यास रस in ayurveda। इसे बनाने कि विधि बताये कृपया मदद करें ।।

(Edited)

1 Like

LikeAnswersShare

शुद्ध पारद,शुद्ध हिगुल,शुद्ध गन्धक, शुद्ध जमालघोंटे प्रत्येक 1-1 भाग लेकर प्रथम पारा गन्धक की कजजली बनावें। फिर हिगुल और जमालघोंटे का सूचक चूणॅ मिला देती मूल कवाथ मे मदन कर 1-1 रत्ती की गोलियां बना,सुखाकर सुरक्षित रख ले

Thank you doctor
0

यह रसायन शीतजवर, ठंड लगकर आनेवाले बुखार की उत्तम दवा है।इसे उक्त अनुपालन के साथ सेवन करने से शीतजवर, पारी का बुखार,इकतरफा,तिवारी,चौरसिया आदि ज्वर नष्ट हो जाते है।मलेरिया बुखार मे कुनैन की जगह इस दवा का उपयोग करना उत्तम है।

Thank you doctor
0

View 1 other reply

USEFUL HERBAL REMEDY FOR.. PYREXIA..

Tnx Dr Aazad Kumar
1

Sheetbhanjiras...cold fever shivering...

Thank you doctor
0

View 6 other replies

Helpful in cold, Pyrexia, shivering..

Thank you doctor
1

Diseases Related to Discussion